EntertainmentUP

“जीवन के पथ प्रदर्शन हेतु आज भी प्रासंगिक हैं स्वामी विवेकानंद के विचार” :डॉ सुनीता जोशी

मनोज गोयल

बरेली के कन्या महाविद्यालय में दिनांक 12/1/2018 को ‘स्वामी विवेकानंद जयंती समारोह’ और ‘युवा दिवस’ का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का प्रारंभ उपप्राचार्या एवं इतिहास विभाग की प्रमुख डॉ सुनीता जोशी ने विवेकानंद के चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलित कर एवं पुष्पांजलि अर्पित कर किया। इसके उपरांत इतिहास विभाग की प्रवक्ता और कार्यक्रम की संचालनकर्ता करिश्मा अग्रवाल ने स्वामी विवेकानंद व युवा दिवस के इतिहास, उनके संबंध और महत्व पर प्रकाश डाला।

डॉ अनिता भारद्वाज ने विवेकानंद के आदर्शों के भारत विषय पर अपने विचार व्यक्त किए। जयंती समारोह में ‘वर्तमान युवा पीढ़ी स्वामी विवेकानंद के जीवन दर्शन से क्या सीखें’ विषय पर भाषण प्रतियोगिता का आयोजन किया गया, जिसके निर्णायक मंडल के रूप में डॉ सविता उपाध्याय,डॉ रेनू उपाध्याय एवं डॉ श्यामली सोना की भूमिका रही।

संगीत विभागाध्यक्ष डॉ अनीता जौहरी ने प्रतियोगिता के परिणामों की घोषणा की एवं छात्राओं को उनके प्रयासों के लिए सराहा और प्रोत्साहित भी किया। भाषण प्रतियोगिता में अंजली गुप्ता, सलिना, ममता गंगवार क्रमशः प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान पर रही। इसके अतिरिक्त पूर्व में इतिहास विभाग द्वारा आयोजित ‘स्वामी विवेकानंद ज्ञान प्रतियोगिता’ में अंजुम, आरती, ममता गंगवार क्रमश: प्रथम, द्वितीय, तृतीय व फिरदौस, रीफा नाज ने सांत्वना स्थान प्राप्त किया। इस अवसर पर स्वामी विवेकानंद के जीवन पर आधारित एक डॉक्यूमेंट्री का भी प्रदर्शन किया गया।

कार्यक्रम में अंजलि, सुधा, फातमा, फिरदौस द्वारा युवा गीत की प्रस्तुति दी गई। अंत में,डॉ सुनीता जोशी ने धन्यवाद ज्ञापित कर कार्यक्रम का समापन किया। इस दौरान डॉ अनीता जौहरी, अनीता भारद्वाज, गीता पाराशर, जयश्री, पूजा सक्सेना, मुन्नी रानी अग्निहोत्री, रचना सक्सेना, विनीता रानी शर्मा, पूनम श्रीवास्तव, शुची श्रीवास्तव, मीना सक्सेना, रिचा,सोनम आदि शिक्षिकाएं उपस्थित रही।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close