Bihar

मोहर्रम के ताजिया जुलूस में लगने लगे पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे

गोपाल जी.
बिहार के पश्चिम चंपारण में उस वक्त अफरा-तफरी मच गई जब मोहर्रम के ताजिया जुलूस के दौरान पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए जाने लगें। लगभग सैकड़ों की संख्या में लोग पाकिस्तान लिखी हुई टी-शर्ट पहनकर कलाबाजी दिखा रहे थे और कलाबाजी दिखाते-दिखाते अचानक सभी एक साथ पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने लगे। जिससे पूरे गांव में तनाव फैल गया लेकिन पहले से ही मुस्तैद पुलिस ने दोनों गुटों को समझाते हुए हिंसक झड़प की घटना को शांत किया। वहीं जब मामले की जानकारी जिले के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी को हुई तो उन्होंने इस मामले में 21 लोगों के खिलाफ देशद्रोह का FIR दर्ज किया और सभी के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने का आदेश जारी कर दिया।
जानकारी के मुताबिक बिहार के पश्चिम चंपारण जिले में रहने वाले कुछ मुस्लिम युवक ताजिया जुलूस के दौरान तनाव उत्पन्न करने के लिए पहले से ही पाकिस्तान लिखी हुई टी-शर्ट पहनकर इधर-उधर घूम रहे थे। हालांकि इस बात का विरोध किसी ने नहीं किया। जिसे देखते हुए उन लोगों के हौसले बुलंद हो गए। फिर एक साथ जमा होकर सभी ने जुलूस में ही पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाना शुरू कर दिए। जैसे ही इस नारे की गूंज गांव वालों के पास पहुंची वो लोग भी इसके खिलाफ हो गए और देखते ही देखते दोनों गुटों में हिंसक झड़प की नौबत आ गई।
घटना पश्चिम चंपारण स्थित योगापट्टी थाना क्षेत्र के पिपरा कटहरी गांव की है। हालांकि मामला शांत होने के बाद भी दूसरे समुदाय के लोग थाने पर जमा रहे और देश में रहते हुए देश विरोधी नारे लगाए जाने वाले के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की मांग करने लगे। इसे देखते हुए एसपी में कानूनी कार्रवाई करने का आदेश दिया और सभी के खिलाफ देशद्रोही मामला दर्ज किया गया है।
आपको बता दें की पश्चिम चंपारण जिले के पिपरा कचहरी टोला नौजवान कमेटी के सभी सदस्यों द्वारा अपनी टी-शर्ट पर पाकिस्तान लिखा हुआ था और लाठी डंडे से लैस होते हुए प्रदर्शन कर रहे थे। प्रदर्शन तक तो सब कुछ ठीक ठाक था लेकिन जैसे ही उन लोगों ने पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने शुरू किए।
दूसरे समुदाय के लोग आक्रोशित हो गए और मोहर्रम जुलूस के दौरान देश विरोधी नारे लगाए जाने पर आपत्ति जताते हुए पुलिस से उनके खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई करने की मांग कर रहे थे। जिसके बाद एसपी विनय कुमार ने मामले की जांच अपने हाथों में लिया और कार्रवाई का आश्वासन देते हुए जांच-पड़ताल शुरू की, जिसमें गांव के ही 21 लोगों के खिलाफ FIR दर्ज की गई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close