Crime

खैराबाद मेला मैदान से अवैध कब्जे हटवाने के लिए मुख्यमंत्री से करेंगे मांग

फारूख हुसैन
जनता में जागा विश्वास मुख्यमंत्री के एक खबरिया टीवी चैनल पर दिए गए लाइव बयान पर जनता का दिल जीतने वाले युवा मुख्यमंत्री अखिलेश यादव बन गए सभी समुदाय के लोगों के हीरो युवा मुख्यमंत्री के हर जवाब को जनता ने अपने कमरे में ध्वनि पैदा करने वाले हर उस यंत्र को बंद करके सुना जिससे आवाज पैदा हो रही थी और ऐंकर के हर सवाल का जवाब बिना किसी गुस्से या तैश में आकर जवाब देने के बजाय युवा मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने हर सवाल का जवाब दिल और जुबान से मुस्कुरा कर एक साथ दिया जो दिल में था वह जबान पर था उसको अपनी आवाज से किसी भी तरह की उसके अंदर कथनी और करनी में कोई फर्क नजर नहीं आया और हर सवाल का जवाब जनता सुनने के बाद अपने दिलों में मुख्यमंत्री को बसा लिया जिसमें उन्होंने कई बार जिक्र किया की अगर कहीं जमीनों पर कब्जा हो रहा है तो मुझे लिखकर भेजें इसी तरह हर सवाल की शालीनता पूर्वक जवाब दिए जाने पर खैराबाद की जनता की तरफ से भी एक उम्मीद की किरण जागने पर मुख्यमंत्री को संबोधित पत्र बकसरिया टोला के निवासियों के द्वारा जिनके पूर्वजों के शमशान घाट और मेला मैदान खैराबाद  के सभी अवैध कब्जे हटवाने के लिए एक साथ खड़े हैं इसी मैदान पर धार्मिक स्थल मौजूद हैं इसके लिए आने वाले तहसील दिवस में जिलाधिकारी अमृत त्रिपाठी तथा उपजिला अधिकारी सीतापुर सदर जितेंद्र यादव और सिटी मजिस्ट्रेट रामसेवक द्विवेदी से अवैध कब्जे मेंले मैदान से हटाने की मांग तहसील दिवस में की जाएगी लगातार हो रहे खैराबाद में सरकारी जमीनों पर कब्जे के लिए मुख्यमंत्री से भी मांग वाला प्रार्थना पत्र अतिशीघ्र मुख्यमंत्री के जन सुनवाई पोर्टल पर डाला जाएगा जिसके जरिए उनसे मांग की जाएगी की सर्वप्रथम कब्जे में टट्टर से हो रही सरकारी जमीनों से  टट्टर हटाए जाएं और उन टट्टर की आड़ में जो अवैध निर्माण हुए हैं उनको हटाया जाए और जहां पर अभी नीव  भर कर 9 से 10 फिट ऊंचे कब्जे करके बाउंड्रीवाल तैयार की गई है उसकी बाउंड्रीवाल तोड़कर उन्हीं की नीलामी कराकर प्राप्त हुई शेष राशि से नगर पालिका की तरफ से पिलर तार के कांटे लगाकर नगरपालिका की जमीन का बोर्ड लगा दिया जाए ताकि भविष्य में आने वाली सरकारी योजनाओं मैं इस सरकारी जमीन का प्रयोग किया जा सके कस्बे के लोगों की तरफ से यह भी मांग की जाएगी कि 22 सितंबर से लेकर 21 नवंबर तक शिवपाल सिंह के द्वारा जो अवैध कब्जे हटाने की तारीख निश्चित की गई थी उसकी जानकारी दी जाय की खैराबाद के कितने मोहल्ले से कब्जे हटाए गए हैं इस वर्तमान नगर पालिका के कार्यकाल में धड़ल्ले से जमीने बेची जा रही है कई लोगों के द्वारा कस्बा बचाओ संगठन बनाने की बात भी सामने आ रही है जबकि नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी भी इस पक्ष में है कि कस्बे की सरकारी जमीनों को तार से  घेर कर सुरक्षित किया जाना चाहिए ।
Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close